Sign up now
to enroll in courses, follow best educators, interact with the community and track your progress.
30th August 2017 Part-1: Daily News Analysis
सर, आपने कहा की कानून को निजी समबन्ध के बीच में आने से पूरा असंतुलित हो जायेगा , लेकिन जब हम तीन तलाक की बात करते है तो सुप्रीम कोर्ट कहती है की हम किसी के पर्सनल लॉ में भी हस्तछेप कर सकते है , अगर संविधान के किसी अनुछेद का उलंघ्हन हो रहा है तो ,इसमें भी तो महिला सशक्तिकरण की बात कही गयी थी -marital रैप में भी तो महिला सशक्तिकरण की ही बात कर रहा है I
Pranjal mishra
2 years ago
it can also come under Article 21 personal liberty ...I agree with you